Computer Virus - computer science

Comments

ads

Hot

Post Top Ad

Your Ad Spot

Thursday, August 9, 2018

Computer Virus

computer virus 

वर्तमान में सामान्य कंप्यूटर user के कंप्यूटरों में वायरस के कारण समस्या उत्पन्न होती रहती है ! इस के कारण कभी कंप्यूटर स्क्रीन पर विभिन प्रकार की अक्रती या चिन्ह प्रदर्शित होते रहते है , अथवा कंप्यूटर अन्दर ही अन्दर कुछ प्रोग्रमिंग  करते रहते है , जिस के कारण user को अपने डेटा को खोना पड़ता है ,और जिस से user हार्ड डिस्क में से डेटा को एक्सेस नही कर पता है !

what is computer virus

कंप्यूटर virus कुछ निर्दाशो का ऐसा शक्तिशाली प्रोग्राम होता है , जो अपने तरीके से कंप्यूटर को चलता है ,ये virus किसी भी समान्य कंप्यूटर से जुड़ जाता है ! कंप्यूटर virus का प्रमुख कार्य केवल कंप्यूटर मेमोरी से डेटा को ख़त्म destroy करना होता है तथा सम्पर्क में आने वाले सभी प्रोग्रामो को संक्रमित करना होता है , तथा virus कंप्यूटर प्रणाली को बन्द कर देता है ! 

History of virus 

बतया जाता है की पाकिस्तान में रहने वाले दो भाइयो ने virus प्रोग्राम बनाया था ,उन दोनों ने सी - अशर सी -ब्रेंन नाम के virus बनये थे ,इन दोनों में से सब से चर्चित         सी -ब्रेंन रहा था ! 

Symptoms of virus Infection 

1. कार्यकरी  प्रोग्राम को मेमोरी में बिना लोड किये RAM का कम हो जाना !

2. बिना किसी कारण किसी फाइल का आकार बढ़ना या घट जाना !

3. फाइलो की  संख्या बढ़ जाना !

4. 'की' बोर्ड का अचानक से कार्य करना !

5. कंप्यूटर का हैंग होना आदि !

Type of Computer Virus

वायरस प्रोग्राम तीन प्रकार के होते है - Boot Sector Virus , File Virus , Other Virus

1. Boot Sector Virus - इस प्रकार के virus हार्ड डिस्क अथवा Disk Operating System की boot डिस्क के शून्य (0) सेक्टर में अपना संक्रमण फैलाते है, यह वारस  हार्ड डिस्क में मैजूद  Partition Table को भी बदल देते है ,इस प्रकार यह वारस कंप्यूटर के start होते ही ,सबसे पहलें operating system के स्थान पर खुद को मेमोरी में लोड करता है ! 

प्रमुख boot sector virus निम्नलिखित है - सी -ब्रेंन,स्टोन, पिंगपांग, 1701,वियेना,पैंटागन,1704

 2.File Virus -  जैसे नाम से ही पता चलता है की इस प्रकार के virus कंप्यूटर की प्रोग्रामि फाइल में प्रवेश कर जाते है ! ये virus COM, EXE,SYS, OVL,तथा BIN फाइल को ही अपना शिकार बनाते है ! ये virus फाइल के आकार को प्रभवित करता है ! कुछ फाइल virus इस प्रकार है - FRIDAY 13, 8290 virus , रेनड्रॉप वायरस, 684 वायरस !

3. Other Virus -  ट्रोजन और वर्म 

A Modern Virus

एक रिपोर्ट के अनुसार 26 अप्रैल सन 1999 को अचानक अकेले भारत में लगभग दस हजार कंप्यूटर इससे प्रभावित हुए ! इस का करण था एक virus ,जिसने  इन कंप्यूटर को ठप कर दिया था ! इस virus का नाम W95.CIH है

 Anti Virus Programme

कंप्यूटर में virus की उपस्थति की जानकारी देने के लिये और कंप्यूटर  को virus से मुक्त करने के लिये विषेस softwaer आज बाजार में उपलब्ध है ! इन softwaer को Anti virus programme कहा जाता है ! ये Anti virus program अन्य कंप्यूटर प्रोग्राम्स की भाति ही होता है !प्रत्येक virus को पहचानने का एक विशेष तरीका होता है ! जिन virus को पहले पकड़ा जा चुका है , उनकी पहचान के तरीके इन ' Anti virus program' में रिकॉर्ड होता है !

किसी भी एंटी virus प्रोग्राम को खरीदते समय कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए !

1.एंटी वायरस प्रोग्राम को कंप्यूटर में स्थापित करना तथा प्रयोग करना सरल हो !

2.एंटी वायरस प्रोग्राम के साथ आवशयाक  जानकारी हो तथा अपग्रेड करना सरल हो !

3.एंटी वायरस प्रोग्राम आवशकता होने पर TSR की भाति कार्य कर सके !

4.एंटी वायरस प्रोग्राम boot sector तथा मास्टर boot रिकॉर्ड की जाच  करने में सक्षम हो !

5.एंटी वायरस प्रोग्राम को स्मार्ट एंटी  virus प्रोग्राम होना चाहिए !

6.एंटी वायरस प्रोग्राम नेटवर्क के लिये भी सक्षम होना चाहिए !

7.एंटी वायरस प्रोग्राम विभिन्न Encryption तकनीको से लड़ने के लिये उपयुक्त  हो !







Hello dosto kase ho aap agr aap ko yh jankari acchi lagi ho to like kre or comment me btae ki yh jankari aap ko ksi lagi , agr koi problam ho to hume btae hum use solv kr ke aap ko btae ge.

aaj ke leye bs itna he..............fir milage...................
                                                                                 THANKU

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot